राजनितिक तंज की शुरूआत ( politician-talk)- 
भारत बचाओ रैली में कहा कि मैं राहुल सावरकर, नहीं राहुल गांधी हूं। कांग्रेस के अन्य नेताओं ने मोदी तथा अमित शाह पर निशाना साधा व  भाजपाइयों ने भी पलटवार किया। कुछ न्यूज़ चैनल ने इस रैली को "राहुल बचाओ रैली" तक कह दिया। जैसे कांग्रेस के नेता पर गरजे वैसे ही भाजपा नेता भी इस पर बरसे। राहुल गांधी ने कहा मेरा नाम राहुल सावरकर, नहीं है बल्कि राहुल गांधी है।
मोदी सरकार की खोली पोल-
मै सच्चाई बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा और नहीं कांग्रेस का कोई व्यक्ति माफी मांगेगा। माफी तो नरेंद्र मोदी और अमित शाह को देश से मांगनी चाहिए। राहुल गांधी ने दिल्ली में सरकार की आर्थिक नीतियों के विरोध में बुलाई गई रैली में अपने "रेप इन इंडिया" वाले बयान का जिक्र करते हुए कहा मर जाऊंगा लेकिन माफी नहीं मांगूंगा । उन्होंने कहा पहले अर्थव्यवस्था हमारी शक्ति थी, है नहीं, पहले नो फीसदी जीडीपी ग्रोथ रेट थी और आज प्याज पकड़े हुए हैं ।

राहुल ने कहा, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नरेंद्र मोदी ने अकेले खत्म कर दी। काले धन के खात्मे का हवाला देकर आपसे झूठ बोलकर नोटबंदी की । उसके बाद गब्बर सिंह टैक्स। उन्होने कहा, कोई एक 30 सेकंड का विज्ञापन आता है वह लाखों का होता है। नरेंद्र मोदी टीवी पर दिनभर दिखते हैं रोज इसका पैसा कौन दे रहा है । इसका पैसा वो लोग दे रहे हैं, जिनका नरेंद्र मोदी आपका  पैसा छीन कर दे रहे हैं। रैली में सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी-शाह सरकार संविधान की धज्जियां उड़ा रही है। नागरिकता संशोधन कानून से भारत की आत्मा तार-तार हुई है । देश में अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा माहौल है। सोनिया गांधी ने कहा,  आज नौजवान नौकरी पाने के लिए दर-दर भटक रहे हैं। दशको से ऐसी बेरोजगारी नहीं थी लेकिन अब हर तरफ बेरोजगारी ही बेरोजगारी है । रोजगार के लिये हम देश के लिए कठोर संघर्ष कर रहे हैं । उन्होंने कहा बेरोजगारी की वजह से अब पूरे परिवार की आत्माहत्याओ की खबरे सामने आ रही हैं । आज रोजमर्रा की चीजो की कीमत महंगी होने से लोगों की नींद हराम हो गई है । सोनिया ने आगे कहा, हम हमारी माताओं बहनों के लिए हम संघर्ष करेंगे। आज पूरा देश पूछ रहा है कि सबका साथ सबका विकास कहां है । मोदी की गलत नीतियों की वजह से देश बर्बाद हो रहा है। उन्होंने कहा, नोट बंदी लागू करने के बाद काले धन को खत्म करने की बात की गई थी ।
काला धन मिला नहीं वह काला धन किसके पास है। काले धन की जाचँ होनी चाहिए।  आगे कहा कि आज जनता का पैसा बैंकों में सुरक्षित नहीं है । आप अपना पैसा घर में भी नहीं रख सकते । क्या यही है मोदी के अच्छे दिन । उन्होंने कहा, देश में जिनके साथ अन्याय होगा काग्रेस उनके साथ खड़ी रहेगी । मोदी शाह सरकार को संविधान की परवाह नहीं है । इन लोगों को बस अपनी राजनीति की परवाह है। लोगो को लड़ाओ और राजनीति करो। सोनिया ने कहा लोकतंत्र की रक्षा के लिए हम कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। जनता की रक्षा करने के लिए कांग्रेस ने हमेशा लड़ाई लड़ी है। आज भी कांग्रेस पीछे हटने वाली नहीं है। हम अंतिम सांस तक संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए अपना कर्तव्य निभाते रहेंगे ।
संबित पात्रा ने लगाई फटकार-
राहुल के सावरकर वाले बयान पर संबित पात्रा ने कहा कि  भले ही राहुल गांधी सो जन्म ले ले लेकिन वह कभी राहुल सावरकर नहीं बन सकते।  बीजेपी अब उन्हें "राहुल थोड़ा शर्म कर" के नाम से बुलायेगी। संबित पात्रा आगे कहा कि राहुल गांधी आर्टिकल 370, एयर स्ट्राइक, सर्जिकल स्ट्राइक, सीएबी जैसे मुद्दों पर पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं। बीजेपी नेता पात्रा ने आगे कहा अगर वह एक नया नाम चाहते हैं तो आज के बाद बीजेपी उन्हें "राहुल थोड़ा शर्म कर" के नाम से बुलायेगी। उन्हें वास्तव में थोड़ी शर्म करनी चाहिए। एक व्यक्ति जो "मेक इन इंडिया" की तुलना "रेप इन इंडिया" से करता है उसने शर्म और गरिमा की सभी' पार कर दी है। संबित पात्रा ने कहा सावरकर वीर थे । देशभक्त थे । बलिदानी थे । राहुल सावरकर के बराबर नहीं हो सकते।
राजनितिक पार्टियो का हो रहा पतन-
दिल्ली के एक पुराने कांग्रेसी नेता और नये भाजपाई नेता ने इस रैली के बाद कहा की आम जनता को पता चल गया एक पुरानी पार्टी का पतन उसके नेता अपनी सनक के चलते कैसे करते हैं।  इन सब कांग्रेसियों के बयानों से साफ है कि इनके बुद्धि के ग्राफ में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई। यह अभी तक नोटबंदी, जीएसटी पर अटके हुए हैं।  और इन्हें इनकी गफलत का अंदाजा भी नहीं है लोग देख रहे हैं कि एक पार्टी कितनी समझदारी भरे रास्तों और बयानो से गुजरती है और खत्म हो जाती है।
Reception, Woman, Secretary, Corporation

भारत देश की तारीफ की-
प्रियंका गांधी ने कहा हम देश को बचाना चाहते हैं। देश, प्रेम और भाईचारे का है। यह देश स्वतंत्रता संग्राम से बना है। सबको समानता देने वाले देश हैं। समानता और स्वाभिमान देने वाला देश है।
मौजूदा सरकार पर लगाये महगाई बढाने के आरोप-
उन्होंने कहा हर जगह आज लिखा मिलता है कि मोदी है तो मुमकिन है । लेकिन मैं कहती हूं बीजेपी है तो ऐसे कानून बन रहे हैं जिस देश का संविधान खतरे में है । बीजेपी है तो प्याज ₹100 किलो मुमकिन है । बीजेपी है तो बेरोजगारी मुमकिन है । हर देश की अर्थव्यवस्था पाताल में पहुंच गई है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी राहुल के बयान पर ट्वीट किया लिखा कि वीर सावरकर तो सच्चे देशभक्त थे। उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता। कोई देशभक्त नहीं बनता। देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्ध हिंदुस्तानी रक्त होना चाहिए । वेश बदलकर बहुतों ने हिंदुस्तान को लूटा है अब यह नहीं होगा। अपने ट्वीट के साथ गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की तस्वीरें पोस्ट की है । गिरिराज सिंह ने लिखा है कि यह तीनों कौन है क्या यह तीनों देश की आम नागरिक है।
मेरा क्या मानना है- 
मै आसान शब्दों में कहना चाहता हूँ कि क्या आपको नहीं लगता किस देश की बड़ी राजनीतिक पार्टियां चाहे वह कोई सी भी हो उनको आपस में एक दूसरे की कमियां न निकाल कर देश को उन्नति की और कैसे ले जाएं पर बयान बाजी और कार्य करना चाहिए।
आपकी इस बारे में क्या राय है कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें मामला हमारा तुम्हारा नहीं देश का है

Post a Comment

Previous Post Next Post