रिपोर्ट:---  वीरेंद्र तोमर बागपत


यूपी के बागपत जिले में पुलिस का ख़ौफ़ बदमाशों में इस कदर है कि शातिर बदमाश एनकाउंटर होने की दहशत में आत्मसमर्पण कर रहे है ताजा मामला कोतवाली बडौत इलाके का है जहां ऊधम सिंह करनावल गैंग के शातिर बदमाश अनुज बरखा ने पुलिस एनकाउंटर होने की दहशत में आज जिला न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है और शातिर बदमाश पुलिस कस्टडी में बोला कि ग्राम प्रधान ओर जिला पंचायत का लड़ूंगा चुनाव , कुख्यात योगेश भदौड़ा से है मुझे जान का खतरा वही आत्मसमर्पण पर पुलिस के अधिकारी ने बताया कि अनुज बरखा टॉप 10 सूची का बदमाश है जिसके खिलाफ लूट , हत्या ,अपहरण और जान से मारने के प्रयास के दो दर्जन मुकद्दमे भी दर्ज है


दरअसल आपको बता दे कि कोर्ट में आत्मसमर्पण करने वाला बदमाश अनुज बरखा कोतवाली बडौत क्षेत्र के वाजिदपुर गांव का रहने वाला एक शातिर किस्म का अपराधी है और वह मेरठ जनपद के कुख्यात बदमाश ऊधम सिंह करनावल का ममेरा भाई अनुज उसके गैंग का सक्रिय बदमाश है पिछले काफी समय से वह पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था वही बीजेपी नेता संजय खोखर की हत्या के बाद बागपत से लेकर लखनऊ तक हड़कम्प मचा हुआ था जिसके चलते ही सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियो पर शिकंजा कसने के सख्त आदेश दिए थे जिसके बाद से ही पुलिस एक्शन में है और कोतवाली बडौत प्रभारी एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अजय शर्मा की दहशत में ऊधम सिंह गैंग के शातिर बदमाश अनुज बरखा ने आज बागपत न्यायालय में सरेंडर कर दिया है जिससे कि वह एनकाउंटर होने से भी बच सके इतना ही नही शातिर बदमाश अनुज बरखा पुलिस कस्टडी में बोला है कि वह उसकी पत्नी ग्राम प्रधान ओर वह जिला पंचायत का चुनाव लड़ेगा , ओर से योगेश भदौड़ा से जान का भी खतरा है  वही पुलिस के अधिकारी का कहना है कि आत्मसमर्पण करने वाला बदमाश अनुज शातिर किस्म का अपराधी है जिसके खिलाफ दो दर्जन मुकद्दमे भी दर्ज है



Post a Comment

Previous Post Next Post