Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

वायरलेस पर आई लूट की सूचना, पकड़े गए एसपी।

स्क्रिप्ट- फारुख हुसैन लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी में एसपी सतेंद्र कुमार ने रात में पुलिस की गश्त व्यवस्था को चेक किया. इस दौ...


स्क्रिप्ट- फारुख हुसैन लखीमपुर खीरी।


यूपी के लखीमपुर खीरी में एसपी सतेंद्र कुमार ने रात में पुलिस की गश्त व्यवस्था को चेक किया. इस दौरान उन्होंने फर्जी लूट की सूचना अपने वायरलेस से देते हुए लुटेरे के रूप में अपना हुलिया बताया. इस सूचना पर चौकन्ने हुए एक दारोगा ने भाग रहे एसपी की गाड़ी में डंडा फंसाकर उन्हें पकड़ लिया.
लखीमपुर खीरी: जिले में गश्त को लेकर एसपी सतेंद्र कुमार काफी गम्भीर हैं. जिले का चार्ज मिलते ही एसपी सतेंद्र कुमार ने एक हफ्ते के अंदर लापरवाही बरतने के मामले में 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था. एसपी की इस कार्रवाई से पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया. कुछ इसी तरह शहर में रात को गश्त व्यवस्था को चेक करने के लिए एसपी ने अनूठा प्रयोग किया।
दरअसल, खीरी एसपी सतेंद्र कुमार कानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त बनाने के लिए इन दिनों सजग हैं. उन्होंने वायरलेस से अपनी गाड़ी का हुलिया बताते हुए लूट की सूचना दी. मैसेज पास हुआ कि शहर में एक लूट हुई है. लुटेरे सफेद अपाचे से लूटकर भागे हैं. इसमे पीछे बैठे एक शख्स ने नीली टीशर्ट पहनी हुई है. लूट की सूचना के बाद जिले की पुलिस अलर्ट हो गई. असल में नीली टीशर्ट पहने हुए व्यक्ति कोई लुटेरा नहीं खुद एसपी खीरी सतेंद्र कुमार थे जो चेकिंग पर निकले थे. जब एसपी सतेंद्र शहर के मेन रोड पर पहुंचे तो वहां चेकिंग कर रहे एक दारोगा ने उन्हें दबोच लिया. एसपी ने अपनी पहचान न बताते हुए भागने का प्रयास किया तो दारोगा ने अगले पहिए में डंडा फंसाकर गाड़ी जामकर एसपी की तलाशी ली. जब एसपी सतेंद्र ने हेलमेट उतारा तो अपने कप्तान को देख दारोगा हक्का बक्का रह गया. एसपी ने दारोगा को सजग देख खुशी जाहिर की. उन्होंने तत्काल दारोगा को इनाम दिए जाने की घोषणा कर दी. इस दौरान एसपी सतेंद्र कुमार ने बताया कि शहर की पुलिस गश्त व्यवस्था ठीक से काम कर रही है या नहीं इसे चेक करने के लिए मैंने फर्जी लूट की सूचना का मैसेज सेट से खुद ही पास के पी सी ओ से दी थी । कुछ जगह तो गश्त व्यवस्था ठीक रही लेकिन कुछ जगह पर गश्त व्यवस्था में लापरवाही देखी गई है जिसके चलते संबंधित थानों के इंचार्ज से स्पष्टीकरण मांगा गया है यदि वह स्पष्टीकरण देते हैं नहीं देते हैं तो उन पर कार्रवाई की जाएगी ।




No comments