एक तरफ जहां सरकार डॉक्टर पुलिस और सफाई कर्मचारियों को  वॉरियर्स का खिताब दे रही है तो वहीं आए दिन ये ही कोरोना वरियर्स चर्चाओं में आने लगे हैं। अभी हाल ही में मेरठ मे एक महिला डॉक्टर के जरिए लापरवाही के चलते गर्भवती महिला की मौत का मामला ठंडा नहीं हुआ था । कि आज एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी पर स्कूटी पर जा रहे सफाई कर्मचारी को पीटने का मामला सामने आया । दरअसल मामला थाना कोतवाली के  मुख्य हापुड़ अड्डे चौराहे है जहाँ स्कूटी से एक सफाई कर्मचारी जिसका नाम अमित काजीपुरिया बताया जा रहा है अपने घर जा रहा था तभी चेकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने सफाई कर्मचारी को रुकने का इशारा किया लेकिन स्कूटी सवार सफाई कर्मचारी ने रोकने की बजाय भागने का प्रयास किया जिसके बाद ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने सफाई कर्मचारी के डंडा मार दिया जिससे वह अनियंत्रित होकर गिर गया गिरने के बाद सफाई कर्मचारी के पैर की हड्डी टूट गई । जैसे ही सफाई कर्मचारी ने अपने परिचितों को घटना के बारे में बताया की सफाई कर्मचारी ने अपने परिजनों को बताया  तो सैकड़ों सफाई कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंचकर हंगामा करने लगे इतना ही नहीं सफाई कर्मचारियों ने कूड़े भरी कई गाड़ियों को चौराहे पर लाकर खड़ा कर दिया और सड़कों पर बैठकर ट्रैफिक पुलिस के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। हंगामा बढ़ता देखे मौके पर कई थानों की फोर्स पुलिस पहुंच गई । सफाई कर्मचारी नेता विपिन मनोठिया ने बताया के करुणा काल में  सफाई कर्मचारी लगातार  शहर की सफाई कर रहे हैं  ताकि आम जनता सुरक्षित रहे  और उसी  सरकार में  सफाई कर्मचारियों पर लगातार  जुर्म हो रहे हैं  चाय मेरठ शहर की बात हो जाए मेरठ शहर से अन्य शहरों की बात हो  और जिस तरह से मेरठ में घटना घटी है  उसको लेकर  काफी रोष है जब तक  आरोपी सिपाहियों पर  धारा 307 का मुकदमा दर्ज नहीं होता वह उनको सस्पेंड नहीं किया जाता  तब तक हम सफाई कर्मचारी शांत नहीं बैठेंगे वही मौके पर सीटी मजिस्ट्रेट सतेन्द्र सिंह हंगामा कर रहे सफाई कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया  आरोपी सिपाहियों पर  मुकदमा दर्ज करने में सस्पेंड करने की मांग करते हुए सड़क पर ही धरने पर बैठ गए जिसके बाद मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट सतेंद्र ने है सफाई कर्मचारी नेता से जानम समझा बुझाकर समझाने बुझाने का प्रयास किया मौके पर पहुँच की और उन्हें आश्वासन दिया कि जो भी पुलिस कर्मचारी दोषी हैं उन पर सख्त कार्यवाही की जाएगी वही घायल सफाई कर्मचारी का उपचार भी किया जाएगा जिसके बाद सस्पेंड किया जाएगा उन पर कार्रवाई की जाएगी वहीं घायल हुए सफाई कर्मचारी का उपचार कराया जाएगा । आश्वाशन मिलने बाद जाम खोल दिया वही घायल युवक को मेडिकल अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया है ।




Post a Comment

Previous Post Next Post