मानवता को शर्मसार करने व रूह को हिला देने वाली खबर।


भोपाल: मध्य प्रदेश के एक सरकारी अस्पताल से लापरवाही और अमानवीयता का मामला सामने आया है। यहां एक शख्स की मौत के बाद शव अंतिम संस्कार के इंतज़ार में सड़ गया, लेकिन किसी को होश नहीं आया। कंकाल बन गए शव की बदबू जब पूरे अस्पताल तक पहुंची तो अस्पताल प्रशासन की नींद टूटी और आनन फानन में शव को हटाया गया। मामले में अस्पताल प्रशासन ने जांच करवाने की बात कही है।

आपको बता दे मामला मध्य प्रदेश के महाराज यशवंत राव अस्पताल का है जिसमे अस्पताल प्रशाशन की बड़ी लापरवाही देखने को मिली है दरअसल, मध्य प्रदेश के महाराज यशवंत राव अस्पताल का है। यह राज्य का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल है। यहां लापरवाही का बेहद शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। अस्पताल की मॉर्चरी रूम में रखी यह शव 10 दिनों तक स्ट्रेचर पर पड़ा रहा। शव सड़ कर कंकाल बन गया लेकिन अस्पताल के स्टाफ को खबर तक नहीं हुई।

10 दिनों तक स्ट्रेचर पर सड़ती रही लाश
ये तो पता नहीं चला की शव किसका था और कब लाया गया लेकिन 10 दिनों तक एक शख्स की लाश स्ट्रेचर पर ही पड़ी रही और किसी को होश न हो, इसे लापरवाही का चरम कहा जा सकता है। शव की बदबू पूरे मॉर्चरी में फ़ैल गयी लेकिन फिर भी अस्पताल प्रशासन की नींद नहीं टूटी। हालाँकि बाद में जब इस बारे में जानकारी हुई तो उसका आनन फानन में अंतिम संस्कार करवाया गया।

Post a Comment

Previous Post Next Post