Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

मोरना के अनुज हत्याकांड में फरार हत्यारोपी भी गिरफ्तार, पलवल पुलिस ने लिया हिरासत में

   Muzaffarnagar। मोरना के अनुज कर्णवाल हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त भी हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया गया है, एक अभियुक्त मंगलवार देर रात में म...

  



Muzaffarnagar। मोरना के अनुज कर्णवाल हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त भी हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया गया है, एक अभियुक्त मंगलवार देर रात में मुज़फ्फरनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।muzaffarnagar police ने मंगलवार देर रात भोपा क्षेत्र के चर्चित अनुज कर्णवाल हत्याकांड के आरोपी 50 हजार रुपये के इनामी हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया था उसने पुलिस पर गोली चलाई जिसके बदले में पुलिस ने भी उसे गोली मार दी , उसे घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था ।SP (देहात) नेपाल सिंह ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंगलवार देर रात सूचना मिलने पर भोपा थाना प्रभारी सूबेे सिंह यादव ने पुलिस बल के साथ दवा कारोबारी Anuj Karnwal की हत्या के मुख्य अभियुक्त 50 हजार रुपये के इनामी कपिल को ककराला रजवाहा पटरी पर घेर लिया। खुद को घिरा देख उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी और भागने का प्रयास किया। उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में मोरना निवासी हत्यारोपी कपिल घायल हो गया था, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया। घायल बदमाश को अस्पताल भेज दिया गया है, इसके पास से असलहा बरामद किया। मुज़फ्फरनगर में मोरना के अनुज कर्णवाल हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, पुलिस पर चलायी गोली, पुलिस ने भी गोली मारी , खतौली से भी एक गिरफ्तार इस हत्याकांड में एक अन्य मुख्य अभियुक्त अभियुक्त अजीत को भी हरियाणा पुलिस ने भी गिरफ्तार कर लिया है। हरियाणा पुलिस को बुधवार को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली है, जब पलवल की टीम ने उत्तर प्रदेश के वांटेड को गिरफ्तार कर लिया। बताया जाता है कि हत्या और लूट जैसी संगीन वारदातों में नामजद होने के बावजूद फरारी के चलते उत्तर प्रदेश में इस अपराधी के सिर पर 50 हजार रुपए का इनाम रखा हुआ है। अब इसे पलवल जिले में हरियाणा पुलिस ने अवैध हथियार के साथ धर-दबोचा।हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार किए गए अपराधी की पहचान मुजफ्फरनगर के मोरना निवासी अजीत के रूप में हुई है। पलवल में नेशनल हाईवे के पास गश्त के दौरान गुप्त सूचना पर क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की टीम तुरंत हरकत में आई और अजीत को काबू कर लिया। शुरुआती जांच में पाया गया कि मुजफ्फरनगर और मेरठ पुलिस द्वारा हत्या और लूट की वारदातों में अपराधी की गिरफ्तारी पर 25000-25000 रुपए का इनाम घोषित है।


No comments